Chat with us, powered by LiveChat

कंचन देवी भागलपुर के नौगछिया प्रखंड के पकरा ग्राम से आती हैं। यह वही ग्राम है जिसने मंजूषा कला को वर्ष 2012 में संजीवनी दिया। प्रदेश के मुखिया श्री नीतीश कुमार 2 जून 2012 को पकरा ग्राम में कंचन देवी सहित 250 मंजूषा कलाकारों द्वारा तैयार उत्पादों की प्रदर्शनी में शामिल हुए और इस कला पर बिहार सरकार ने संज्ञान लिया। आज बिहार राज्य कला एवं संस्कृति विभाग या उद्योग विभाग के द्वारा आयोजित जितने भी कार्यक्रम हैं उसकी नींव इस गाँव में ही पड़ी थी। कंचन देवी ने 2012 में ही संस्था दिशा ग्रामीण विकास मंच द्वारा आयोजित प्रशिक्षण में इस कला को जाना और पेंटिंग की कुशलता और बारीकी ने इन्हें मंजूषा क्लस्टर से जोड़ा। वर्तमान में कंचन देवी Ulupi Jha के नेतृत्व में इस कला को उत्पादों पर उकेरने का कार्य कर रही हैं। 

Share This